2022 नए साल की सुबह सुहानी शायरी

नया साल की सुबह सुहानी,
छोड़ो यारो बात पुरानी,
नया साल और नयी सुबह
नयी नयी हैं अभी वजह

चलती रहे यही ज़िंदगानी
नया साल की सुबह सुहानी
छोड़ो यारो बात पुरानी,
प्यार मोहब्बत की हो बस कहानी

ये नया साल रहे सबसे कूल
माफ़ कर गलतिया जाओ भूल
नाराजगी का ना रहे कोई नाम
2022 में आपके बने सारे काम

नया साल की सुबह सुहानी,
छोड़ो यारो बात पुरानी….

वेलकम करो नववर्ष 2022 की शायरी

जो साल गुजर गया ग़मों में, उसको गुजरने दो
ये साल खुशियों का होगा इसको उभरने दो

2021 मेरे देश को घायल करके चला गया
कोरोना और राजनितिक लड़ाईयों से
दुआ करो सबके लिए, और 2022 को संवरने दो

बहुत कुछ खोया हमने, 2022 में इसे भुला ना सकेंगे
फिर भी छोटी छोटी खुशियों से, बड़े घाव भरने दो

यूँ मायूस ना रहो, दोस्तों, 2021 को लेकर
तुम भी वेलकम करो 2022 का, और हमे भी करने दो

नया साल आ गया शायरी

देखते ही देखते फिर से नया साल आ गया

मेरे ख़्वाब मेरे सपने वही रह गए और..
मैं अपनी कल्पनाओं में ही खो के रह गया

फिर वही नयी उम्मीदें, नयी कल्पना लिए
देखते ही देखते फिर से नया साल आ गया

कुछ नया ना होगा, रह जायेंगे सपने अधूरे
बदल के साल का नंबर एक और साल चला गया

बदले मेरी ज़िन्दगी का भी रंग कुछ इस तरह
और कहु देखों, मेरा भी साल नया आ गया

फिर वही नयी उमीदें, नयी कल्पना लिए
देखते ही देखते फिर से नया साल आ गया

बीते साल की यादो का जश्न मनाते हैं न्यू ईयर शायरी

बीते साल को विदा इस कदर करते हैं,
ज़ो नहीं किया अब तक वो भी कर गुज़रते हैं,
नया साल आने की खुशियाँ तो सब मनाते हैं,
चलो हम, इस बार बीते साल की यादो का जश्न मनाते हैं!!

नए साल की पहली सुबह ख़ुशियाँ अनगिनत लाएगी

फूल खिलेंगे गुलशन में खूबसूरती नज़र आएगी,
बीते साल की खट्टी मीठी यादें संग रह जाएगी,
आओ मिलकर जश्न मनाएं नए साल का हँसी ख़ुशी से,
नए साल की पहली सुबह ख़ुशियाँ अनगिनत लाएगी!!

काश 2022 ऐसा हो हैप्पी न्यू ईयर शायरी

कोई दुःख ना हो कोई गम न हो,
कोई आंख कभी भी किसी की नम न हो!
कोई दिल किसी का न तोड़े,
कोई साथ किसी का ना छोड़े!
बस प्यार का दरिया बहता हो,
ये काश 2022 ऐसा हो..!!

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published.