2021 नए साल की सुबह सुहानी शायरी

नया साल की सुबह सुहानी,
छोड़ो यारो बात पुरानी,
नया साल और नयी सुबह
नयी नयी हैं अभी वजह

चलती रहे यही ज़िंदगानी
नया साल की सुबह सुहानी
छोड़ो यारो बात पुरानी,
प्यार मोहब्बत की हो बस कहानी

ये नया साल रहे सबसे कूल
माफ़ कर गलतिया जाओ भूल
नाराजगी का ना रहे कोई नाम
2021 में आपके बने सारे काम

नया साल की सुबह सुहानी,
छोड़ो यारो बात पुरानी….

वेलकम करो नववर्ष 2021 की शायरी

जो साल गुजर गया ग़मों में, उसको गुजरने दो
ये साल खुशियों का होगा इसको उभरने दो

2020 मेरे देश को घायल करके चला गया
कोरोना और राजनितिक लड़ाईयों से
दुआ करो सबके लिए, और 2021 को संवरने दो

बहुत कुछ खोया हमने, 2020 में इसे भुला ना सकेंगे
फिर भी छोटी छोटी खुशियों से, बड़े घाव भरने दो

यूँ मायूस ना रहो, दोस्तों, 2020 को लेकर
तुम भी वेलकम करो 2021 का, और हमे भी करने दो

नया साल आ गया शायरी

देखते ही देखते फिर से नया साल आ गया

मेरे ख़्वाब मेरे सपने वही रह गए और..
मैं अपनी कल्पनाओं में ही खो के रह गया

फिर वही नयी उम्मीदें, नयी कल्पना लिए
देखते ही देखते फिर से नया साल आ गया

कुछ नया ना होगा, रह जायेंगे सपने अधूरे
बदल के साल का नंबर एक और साल चला गया

बदले मेरी ज़िन्दगी का भी रंग कुछ इस तरह
और कहु देखों, मेरा भी साल नया आ गया

फिर वही नयी उमीदें, नयी कल्पना लिए
देखते ही देखते फिर से नया साल आ गया

बीते साल की यादो का जश्न मनाते हैं न्यू ईयर शायरी

बीते साल को विदा इस कदर करते हैं,
ज़ो नहीं किया अब तक वो भी कर गुज़रते हैं,
नया साल आने की खुशियाँ तो सब मनाते हैं,
चलो हम, इस बार बीते साल की यादो का जश्न मनाते हैं!!

नए साल की पहली सुबह ख़ुशियाँ अनगिनत लाएगी

फूल खिलेंगे गुलशन में खूबसूरती नज़र आएगी,
बीते साल की खट्टी मीठी यादें संग रह जाएगी,
आओ मिलकर जश्न मनाएं नए साल का हँसी ख़ुशी से,
नए साल की पहली सुबह ख़ुशियाँ अनगिनत लाएगी!!

काश 2021 ऐसा हो हैप्पी न्यू ईयर शायरी

कोई दुःख ना हो कोई गम न हो,
कोई आंख कभी भी किसी की नम न हो!
कोई दिल किसी का न तोड़े,
कोई साथ किसी का ना छोड़े!
बस प्यार का दरिया बहता हो,
ये काश 2021 ऐसा हो..!!

Mushqil Kiya Hai

Mushqil Kiya Hai Usne Jina Humara
Band Ho Gaya Hai Khana Humara

Bus Guzar Na Jao Main Bechara
Mujheto Hai Bus Ab Dosto Ka Sahara

Kya Karu Yaar Itna Zalim Hai Hostel Ka
Manager Humara

Jab Tammanna Phool Si Khil Jayagi

Jab Tammanna Phool Si Khil Jayagi
Tab Koi Payari Gazal Ban Jayagi

Ho Bhalayi Ka Tassavoor Zahan Main
Ye Zameen Jannat Tabhi Ban Payagi

Khushbuain Ho Jab Fiza Main Payar Ki
Her Kali Phir Phool Ban Khil Jayagi

Aankh Se Annsu Uthaker Pijiye
Phir Dilo Ki Durian Mit Jayagi

Apne Derwaze Se Kundi Khol De
Padosion Ki Khidkiyan Khul Jayagi

Gair Ke Gam Ko Tu Apna Jaan Le
Khak-A Dunia Main Bahar Aa Jayagi

Na Chhand Humko Payara Hai

Na Chhand Humko Payara Hai Na Mangal Aziz Hai
Pyari Hai Ye Zameen Jahan Apne Kareeb Hai

Dunia Ka Chalan Deka Bhai Ko Bhai Loota Hai
Bhai Se Bhai Ka Ye Rishta Ajeeb Hai

Sooli Pe Tanga Hua Hai Aaj Her Koi
Mano Zindgi Nahi Hai Ye To Saleeb Hai

Aati Hai Khushbu Door Se Kahin
Lagta Nahi Koi Chaman Kareeb Hai

Peeth Main Ghopkar Cchura Wo Milte Hai Gale
Waqt Ne Bana Dia Unko Raqeeb Hai

Haal-A Dil Sunane Se Bhala Kya Fayda
Koi Nahi Yahan Bharose Ka Habeeb Hai

Munnasar Honge Halat Ek Din Jaroor
Muntezir Ka Ye Intezar Ajeeb Hai

Meri Maiya Rakhi Manu Charna De Kol

Meri Maiya Rakhi Manu Charna De Kol
Meri Daati Tere Jaya Koi Na Hor

Sab Thanh Thokara Main Kha Aai
Kise Nahi Daati Mainu Apnaya

Mili Na Kidre Vi Thorr
Meri Maiya Rakhi Manu Apne Charna De Kol

Sab De Dilain Di Ma Tu Jaane
Ayye Tere Dar Asha Pujaane

Bani Kayun Maat Kathor
Meri Maiya Rakhi Manu Apne Charna De Kol

Jagat Di Wali Tu Ma Ambein
Sab Te Kripa Kar Jagdambein

Awgunn Na Sade Tatoll
Meri Maiya Rakhi Manu Apne Charna De Kol

Man Mandir Ma Jayot Hai Teri
Sawas Sawas Jupe Jagdambein Meri

Majhdaar Vich Na Chor
Meri Maiya Rakhi Manu Apne Charna De Kol

Moh Mamta Dal Dal Vich Phasya
Karm Koi Vandna Na Kar Sakya

Pai Ajj Ma Teri Lorr
Meri Maiya Rakhi Manu Apne Charna De Kol

Vandna, Nadan Maiya Tere Dar Aai
Sab Kuch Chad Moh Tere Naal Paai

Khali Na Dar To Morr
Meri Maiya Rakhi Manu Apne Charna De Kol
Meri Daati Tere Jaya Koi Na Hor

Ab Tak To The Hum Tanha

Ab Tak To The Hum Tanha
Na Thi Humare Upper Kisi Ki Panah

Ab To Hai  Yahi Ghar Humara
Kisi Kaam Mein Nahi Lagta Dil Bechara

Is Ko Samjhate Samjhate Main To Gaya Mara
Karte Hai Hum Pyar Unse Be Sheq
Lakin Karte Hai Wo Pyar Kisi Or Se Bahut